अगरबत्ती बनाना | लघु व्यवसाय Agarbatti Making

अगरबत्ती बनाना | लघु व्यवसाय Agarbatti Making

AGERBATTI MAKING BUSINESS
अगरबत्ती बनाना | लघु व्यवसाय Agarbatti Making



    अपने विचार आप लोगो के लिए :-

    आज के इस कोरोना समय मे हमने बहुत कुछ खोया है चलती हुई नोकरी ,व्यवसाय और साथ ही अपने निकट संबधी के जाने का अहसास चाहे वो दोस्त हो या अपने घर का सदस्य, इसलिए अब आगे बढ़ने के लिए हमें नए कार्य की तलाश करना अत्यंत आवश्यक है जिससे हम अपनी जीविका चला सके ये किताब मे सिर्फ उन जरूरत मंद लोगो के लिए लिख रहा हूँ जिन्हें छोटा व्यवसाय शुरू करना है इसलिए कम से कम कीमत का निर्धारण कर इसे आप तक पहुचना ही मेरा उद्देश है |

    इस किताब मे हमने आधुनिक समाज के लिए अत्यंत उपयोगी लघु उद्योग, गृह उद्योग आधुनिक उद्योग,सेवा उद्योग,अन्न से जुड़े उद्योग ,खेती-किसानी से जुड़े उद्योग ,कुटीर उद्योग आदि का विस्तृत वर्णन दिया गया है इस बुक को बनाने मे हमने काफी मेहनत की जिसके परिणाम स्वरूप हम इसके जानकारी एकत्रित करके आप तक पंहुचा पा रहे है |

    यदि आप जॉब कर रहे है या जॉब के साथ-साथ अपना एक छोटा व्यवसाय करना चाहते है| जिसे आप घर ,शॉप से शुरू कर सके वो भी बहुत कम पैसो के द्वारा शुरू कर सके तो अपने सही बुक का चुनाव किया है| बिज़नस स्वयं या पत्नीं या घर परिवार वालो के साथ मिलकर भी शुरू किया जाता है |
    कुछ आवश्यक बिंदु जिन पर आपको विचार करना अत्यंत आवश्यक है :-


    · सर्वप्रथम आप अपने सही बिज़नस का चुनाव करे |बिज़नस हमेशा अपनी रूचि, प्रतिभा या अपने बिज़नस बजट को ध्यान मे रखते हुए शुरू करना चाहिए ,साथ ही इस बात का विशेष ध्यान रखना चाहिए की जिस बिज़नस को आप शुरू कर रहे है उसका मार्केट कैसा है ? इसका मतलब की जिस जगह आप बिज़नस शुरू कर रहे है उस जगह उस प्रोडक्ट की जरुरत कस्टमर को है या नहीं ?
    इसलिए अच्छे से विचार करने के बाद बिज़नस का चुनाव करे और आगे बढ़े|

     बिज़नस का प्रकार :- 

    बिज़नस किस प्रकार का करना है इसका विचार करे ,इसका मतलब की आप गृह उद्योग करना चाहते है ? या आप लघु उद्योग करना चाहते है या बिज़नस शुरू करने के लिए आपको शॉप ,गोदाम या निर्माण इकाई की जरुरत पड़ेगी |

     बिज़नस के लिए धन की व्यवस्था :-

    बिज़नस हमेशा कम पैसो से और स्वयं के पैसो से शुरू किया जाये तो बहुत अच्छा होता है जिससे आप किसी पर निर्भर हुए बिना स्वतंत्र मन से कार्य कर सकते है |

    बिज़नस बढ़ जाने पर आप इन्वेस्टर ,पार्टनर ,या बैंक लोन का चुनाव कर सकते है जिससे आप अपने बिज़नस को आगे बढ़ा सके ,इसलिए सर्वप्रथम आप स्वयं आर्थिक रूप से अपने पैसो का उपयोग कर बिज़नस की शुरुआत करे चाहे बिज़नस 5 हज़ार से शुरू हो या 5 लाख से | इस बुक मे किसी भी बिज़नस को कम से कम शुरू करने के तरीके दिए गये है क्रप्या बुक NOTE जरुर पढ़े |

    व्यवसाय करने का तरीका :-

    हर बिज़नस को करने का अलग तरीका होता है इसके लिए आपके चुने हुए बिज़नस की पर्याप्त जानकारी आपके पास होना अत्यंत आवश्यक है इसके लिए यदि आप ट्रेनिंग लेना चाहते है तो आप हमसे संपर्क कर सकते है और बुक मे दिए निर्देशों का पालन करके आप अपने बिज़नस को करने मे परांगत हो सकते है |

    उत्पाद(Product) बनाने की विधि या सेवा व्यवसाय :-

    यदि अपने निर्माण इकाई का चुनाव किया है तो उत्पाद(Product) बनाने की विधि आपको पता होनी चाहिए जिससे आपका उत्पाद(Product) कस्टमर की जरुरत के हिसाब से बन सके और वो उसे हमेशा उपयोग करे जिससे आपका बिज़नस निरंतर चलता रहे | उत्पाद(Product) विधि हमारी बुक मे दी गयी है यदि उत्पाद(Product) बनाने मे कोई समस्या आये तो किसी विशेषज्ञ से सलाह लेकर उसे बनवा लेना चाहिए और उसके जाँच सरकारी मापदंड के अनुसार करवाकर ही उत्पाद(Product) को कस्टमर तक पहुचाना चाहिए जिससे आपके उत्पाद की गुणवक्ता बनी रहे |

    यदि अपने सेवा व्यवसाय का चुनाव किया है तो इसमें समय का ख्याल रखना अत्यंत आवश्यक होता है कस्टमर अपने समय को बचाने और कर को सही समय पर पूरा करने के लिए सेवा शुल्क देता है| इसलिए सपूर्ण कार्य सही तरीके और नियत समय पर पूर्ण हो इसका हमें पूरी तरह ध्यान रखना होगा |

    वर्कर की संख्या :-

    बिज़नस शुरू करने के पहले कितने वर्कर की जरूरत होगी इसकी जानकारी होना जरुरी है | शुरुआत मे हमें कम से कम लोगो को साथ मे रखकर बिज़नस शुरू करना चाहिए जरूरत बढ़ने पर लोगो की सख्या बढ़ाना ही सही विकल्प रहेगा क्योकि इससे आपकी आर्थिक मजबूती बनी रहेगी |और अन्य बिज़नस के लिए भी आपको ऐसा ही करना चाहिए|

    बिसिनेस के लिए कितनी जगह लगेगी :-

    आपको बिज़नस के लिए कितनी जगह की जरुरत है| वो आपके बिज़नस के प्रकार पर निर्भर करता है| निर्माण इकाई के लिए थोडा जायदा जगह की जरुरत होती है और सेवा व्यवसाय के लिए 200 SQF से 600 SQF |
    यदि आप गृह उद्योग से शुरू करना चाहते है| तो से आप 200 SQF से अपने घर से शुरू कर सकते है| बुक मे ऐसे कई बिज़नस का उल्लेख है जिसे आप घर से शुरू कर सकते है| जिसमे आपका किराया बचेगा और समय भी |

    कौन-कौन सी मशीन लगेगी :-

    आपके बिज़नस चुनाव के आधार पर आपके बिज़नस मे उपयोग होने वाली मशीन की जानकारी आपको बुक मे दी गयी गयी है साथ ही हमने कम से कम प्राइस की मशीनो का विवरण दिया है| यदि आपको मार्किट मे प्राइस जायदा लगे तो आप हमसे सम्पर्क करे या हमारे दिए हुए लिंक पर जाकर वास्तविक मूल्य का पता कर सकते है और खरीद भी सकते है| (मूल्य घट-बढ सकते है इसलिए खरीदने के पहले हमारे दिए हुए संपर्क नंबर पर एक बार संपर्क जरुर करे )

    बिज़नस के लिए कच्चा माल :

    बिज़नस के अनुसार प्रत्येक बिज़नस मे उपयोगी कच्चा उत्पाद(Product) जो उत्पाद(Product) बनाने मे उपयोग होगा उसका विवरण प्रोजेक्ट मे दिया है| आपको कच्चा उत्पाद(Product) होल सेल से गुणवक्ता वाला ही खरीदना चाहिए |

    बिजली कितनी लगेगी :-

    आपके बिज़नस मे उपयोग होने वाली मशीनो के आधार पर आप बिजली खर्च का निर्धारण कर सकते है| इसलिए मशीनो का चुनाव घर के वोल्टेज के अनुसार कीजिये |

    उपयोगी फर्नीचर /पानी /अन्य सामग्री :-

    आपके बिज़नस मे जरुरत अनुसार फर्नीचर की अव्श्क्य होती है|ये सेवा इकाई मे बहुत जरुरी होता है यदि आप सेवा इकाई का चुनाव करते है| तो 30 प्रतिशत खर्च फर्नीचर पर होता है |पानी का उपयोग निर्माण इकाई मे होता है जिसमे फ़ूड ,पेय उत्पाद(Product) ,अदि मे अधिक होता है बिज़नस के अनुसार हमने जानकरी उत्पाद(Product) विधि के साथ दी गयी है |

     बिज़नस के लिए लाइसेंस :-

    प्रत्येक बिज़नस के लिए हमें बिज़नस लाइसेंस लेना अनिवार्य है| जिसमे कुछ बिज़नस मे 1 से अधिक लाइसेंस अलग अलग विभाग से लेना जरुरी होता है| ये तब होता है| जब आप अपने बिज़नस को बड़े स्तर पर करना चाहते है| यदि आप लघु उद्योग ,गृह उद्योग ,या फ़ूड वेन के लिए 2 या 3 लाइसेंस से भी काम चल सकता है |
    लाइसेंस का विवरण प्रत्येक बिज़नस मे दिया गया है |

    बैंक लोन एवं उनमे मिलने वाली सबसिटी:-

    किसी भी बिज़नस के लिए बैंक से कुछ शर्तो पर लोन उपलब्ध होता है जैसे
    • · आपका सिविल स्कोर अच्छा हो |
    • · आपके पास पर्याप्त कागजात उपलब्ध हो जिनकी लोन मे जरुरत होती है |
    • · आपके बिज़नस को सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त हो |
    • · आपके ऊपर कोई और बड़ा लोन नहीं चल रहा हो |
    • · आप किसी लोन मे पूर्व मे डिफाल्टर घोषित ना हुए हो| 
    इन सब बातो के आधार पर बैंक से आपको लोन प्राप्त हो सकता है

     लोन के लिए कौन कौन से डॉक्यूमेंट लगेंगे :-

    • · आधार कार्ड
    • · पैन कार्ड
    • · बैंक स्टेटमेंट 1 साल का
    • · बिज़नस प्रोजेक्ट रिपोर्ट
    • · बिज़नस लाइसेंस (जो बिज़नस शुरू करने के लिए जरुरी है )
    • · उद्योग आधार रजिस्ट्रेशन
    • · GST रजिस्ट्रेशन
    • अन्य ट्रेडमार्क ,PVT कंपनी रजिस्ट्रेशन
    यदि आप ये बुक खरीदना चाहते है तो आप हमसे संपर्क कीजिये

    बैंक मे योजना अनुसार आपको लोन सुविधा प्रदान की जाती है जिससे आप आर्थिक रूप से मजबूत बने और अपने बिज़नस को सफलता पुर्वक कर सके |


    अगरबत्तीव्यापार

    अगरबत्ती व्यापार के लिए जरुरी लाइसेंस

    अगरबत्ती व्यापार करने के लिए जिन लइसेंस की आवशयकता होती है जिसे जिला उद्योग द्वारा प्राप्त किया जा सकता है जो की लघु उद्योग के अंतर्गत आते है यही यदि बड़े पैमाने पर आरम्भ करे तो इसमें व्यापर का पैन कार्ड होना आवश्यक होता है तथा साथ ही प्रदुषण नियंत्रण बोर्ड फैक्टी लइसेंस NOC की आवशकता होती है इसे लघु उद्योग इकाई के रूप मे पंजीकृत कर सकते है नए नियमो के आधार पर GST. लेना अनिवार्य है जो की गवर्मेंट द्वारा दिया जाता है

    • · उद्योग आधार रजिस्ट्रेशन
    • · गुमास्ता
    • · प्रदुषण नियंत्रण बोर्ड सर्टिफिकेट
    • · फैक्टी लइसेंस
    • · GST

    अगरबत्ती बनाने के लिए उपयोगी कच्चा माल

    • · कोयले का पाऊडर (चारकोल)
    • · जिगत पाउडर
    • · वाइट चिप्स पाउडर
    • · कुप्पम डस्ट
    • · Diethyl phthalate 
    ये बड़े पैमाने पर जब अगरबत्ती को बनाया जाता है तो इन सब की जरुरत पड़ती है इसकी जगह अब प्रीमिक्स आने लगा है जिससे अगरबत्ती बनाने मे कम समय लगता है

    अगरबत्ती मे इत्र खुशबू के अनुसार मिलाया जाता है
    • · चन्दन
    • · मोगरा
    • · गुलाब
    • · जैसमिन 
    मुख रूप से अगरबत्ती दो प्रकार से व्यवसायिक रूप मे उपयोग की जाती है

    • · सुगन्धित अगरबत्ती
    • · मसाला अगरबत्ती

    अगरबत्ती बनाने की विधि :-


    मसाला अगरबत्ती लकड़ी के (कोयले का चारकोल पाउडर )को जिगत पाउडर ,वाइट चिप्स पाउडर ,कुप्पम डस्ट को पानी मे मिलाकरअर्द्ध ठोस पेस्ट बनाया जाता है जिसे स्व चलित मशीनो मे डालकर अगरबत्ती का निर्माण किया जाता है इसे पुराने समय मे हाथ से ही बनाया जाता था परन्तु वर्तमान समय मे मशीनो द्वारा ही अगरबत्ती का निर्माण किया जाता है
                                  अगरबत्ती बनाने के पश्चात उसे सुखाया जाता है (इसे धुप मे नहीं सुखाया जाता )सूखने के बाद १ लीटर इत्र को 5 लीटर Diethyl phthalate मे मिलाया जाता है सूखी हुई अगरबत्ती को इस मिश्रण मे सुविधानुसार डुबोकर पुनः सुखाकर पैकिंग की जाती है|

    पैकिंग :-

    पैकिंग के लिए आप साधारण पन्नी ,कागज के बॉक्स या प्रिंटेड पैकिंग का उपयोग कर सकते है| 

    इस बिज़नेस की अधिक जानकारी के लिए आप हमें कॉल करे
    9200649999,9644557704
    कृपया ऊपर दिए गए नंबर पर कॉल Whats, SMS, या ONLINE संपर्क करे

    हेलों दोस्तों ये ब्लॉग आपकी जानकारी को बढ़ाने एवं नये बिज़नस को शुरू करने के लिए बनाया गया है यदि आपकी कोई समस्या हो तो 9200649999 पर whatsapp
    कर सकते है या MAIL कर सकते है BUSINESS IDEA यदि पसंद आया हो तो आप हमें बताइये और जिस BUSINESS के बारे में जानकारी चाहते है कमेंट में लिखिये
    धन्यवाद

    أحدث أقدم